बूंदी का रायता (मसाला नमकीन)

बूंदी का रायता (मसाला नमकीन)

आवश्यक सामग्री :-

बेसन – 1 कप (125 ग्राम)
तेल – 1 टेबल स्पून
करी पत्ते – 15-20
नमक – ¼ छोटी चम्मच या स्वादानुसार
लाल मिर्च पाउडर – ¼ छोटी चम्मच
तेल – तलने के लिए

विधि :-

एक प्याले में बेसन निकाल लीजिए और थोड़ा सा पानी डालकर घोल लीजिए. इस घोल को गुठलियां समाप्त होने तक फैंटते रहिए. (एक बार में ही बहुत सारा पानी मत डाल दीजिए वरना गुठलियों को खत्म करने में मुश्किल होगी) घोल में थोड़ा सा पानी और डाल दीजिए और मिक्स कीजिए अब इसमें 1 टेबल स्पून तेल डाल कर इस घोल को और खूब अच्छे से 4 से 5 मिनिट तक फैंट लीजिए. इस घोल को बनाने में पौना कप पानी लग जाता है. अब, घोल को 10 मिनिट तक सैट होने रख दीजिए.

10 मिनिट बाद घोल तैयार है, घोल को फिर से फैंटिए और साथ ही साथ कड़ाई में तेल डालकर गैस पर गरम होने रख दीजिए. थोड़ी देर बाद, तेल में घोल की कुछ बूंदे डालकर चैक कर लीजिए कि तेल गरम हुआ या नही. अगर बूंदी तुरंत ऊपर तैरकर आ जाएं तो तेल पर्याप्त रूप से गरम है. अब, कड़ाई के ऊपर एक कलछी पकड़िए और इस पर थोडा़ बेसन का घोल डाल दीजिए. बूंदी अपने आप तेल में गिर जाएंगी.

बूंदी को गोल्डन ब्राउन होने तक मध्यम गरम तेल में तल लीजिए. बूंदी अच्छी क्रिस्पी सिक कर तैयार है इसे प्लेट में निकाल लीजिए और बचे हुए घोल से भी, इसी प्रकार बूंदी तैयार कर लीजिए. एक बार की बूंदी तलने में 3-4 मिनिट का समय लग जाता है.

पैन को गैस पर रख कर गरम कीजिए. अब इस तेल में करी पत्ता डाल कर तड़क लीजिए, पत्तों को धीमीं आंच पर ही अच्छे से क्रिस्प होने तक तलना है. पत्ते क्रिस्प होकर तैयार हैं इन्हें प्लेट में निकाल लीजिए और पूरी तरह से ठंडा होने दीजिए. करी पत्ता ठंडा होने के बाद इन्हें क्रश कर लीजिए. अब इसमें नमक और लाल मिर्च डालकर मिक्स कर लीजिए और यह मसाला बूंदी में डाल कर मिला दीजिए. नमकीन मसाला बूंदी परोसने के लिए तैयार हैं. बूंदी को आप स्टोर करके पूरे 6 महीने तक खाने के लिए उपयोग में ला सकते हैं.

बूंदी को पूरी तरह से ठंडा हो जाने के बाद बिना कोई मसाला डाले किसी भी एयर टाइट कंटेनर में डाल कर स्टोर कर सकते हैं या इसमें मसाला डालकर भी इसे स्टोर कर सकते हैं.

सुझाव :-

बूंदी लम्बी बन रही है तो बेसन गाढा़ है ऐसे में घोल में थोड़ा सा पानी डालकर उसे ठीक कर लीजिए. अगर बूंदी चपटी सी बन रही है, फूल नहीं रही है तो बेसन का घोल पतला है. इसे ठीक करने के लिए इसमें थोड़ा बेसन डाल कर ठीक कर लीजिए.

एकदम बढ़िया बूंदी बनाने के लिए, घोल को गिराने वाली कन्सीस्टेन्सी का तैयार कीजिए और इसे अच्छे से फैंटना मत भूलिए.बूंदी तलते समय अच्छा गरम होना चाहिए. अगर तेल कम गरम होगा तो बूंदी अच्छी फूल कर तैयार नहीं होगी.कढा़ई में उतनी ही बूंदी तलने के लिए डालें जितनी की उसमें आसानी से आ जाएं.बूंदी में मसाले आप अपनी पसंद अनुसार काली मिर्च पाउडर, भूना जीरा पाउडर जो डालना चाहें डाल सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.