होने वाली दुल्हनों को ट्राई करना चाहिए शहनाज हुसैन द्वारा बताया गया ये नाइट स्किन केयर रूटीन

होने वाली दुल्हनों को ट्राई करना चाहिए शहनाज हुसैन द्वारा बताया गया ये नाइट स्किन केयर रूटीन

अपनी शादी के लिए सबसे अच्छा दिखने के लिए सिर्फ मेकअप और ड्रेस ही काफी नहीं होता है। उसके लिए आपको सिलसिलेवार तरीके से स्किन केयर पर ध्यान देना होता है और कुछ हफ्तों के अंदर ही आपकी स्किन में वो ग्लो आ पाता है जिसकी नई दुल्हनों को जरूरत होती है। नाइट स्किन केयर रूटीन भी बहुत अहम होता है जिससे स्किन मेकअप, प्रदूषण के कणों और गंदगी से छुटकारा पा सकती है। 

क्यों जरूरी है नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन-

दरअसल, स्किन में रिपेयर और रिनीवल ये सारा प्रोसेस रात में ही होता है और इसलिए ये जरूरी है कि आप अपनी स्किन को रात में पूरी तरह से साफ करके सोएं ताकि आपके पोर्स खुले रहें। नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन इसी कारण से मददगार साबित हो सकता है। 

क्या-क्या शामिल होता है नाइट स्किन केयर रूटीन में?

जैसा कि पहले बता हो चुकी है कि रात के दौरान स्किन साफ होती है और रिपेयर होती है। ऐसे में नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन में सबसे ज्यादा क्लींजिंग और मेकअप रिमूवल ही शामिल होता है। नाइट स्किन केयर रूटीन स्किन के सेंसिटिव पार्ट्स की केयर करने के लिए भी जरूरी होता है। खासतौर पर आंखों के आस-पास के एरिया में ये मददगार साबित होता है। अगर आप रात में मेकअप नहीं हटाएंगे तो आपकी स्किन अगले दिन डल लगेगी। 

क्यों मेकअप हटाना है बहुत जरूरी?

कुछ मेकअप आइटम्स जैसे फाउंडेशन और पाउडर आदि स्किन को ड्राई करते हैं और ये स्किन को डल भी बना सकते हैं। रात को सोते समय मेकअप न हटाना आंखों को पफी बनाकर रख सकता है और इससे बचने के लिए मेकअप हटाना बहुत अच्छा साबित हो सकता है। किसी क्लींजिंग क्रीम या जेल की मदद से आप अपनी नॉर्मल ये ड्राई स्किन के लिए मेकअप हटाएं। अगर आपकी ऑयली स्किन है तो फेस वॉश या फिर लाइट क्लींजिंग मिल्क का इस्तेमाल करें। 

आंखों के आस-पास का एरिया ठीक से पोंछना चाहिए पर इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि इससे स्किन स्ट्रेच न हो जाए या फिर खिंच न जाए। आईलैश से मस्कारा को हटाना भी जरूरी है। आप नम कॉटन पर थोड़ा सा क्लींजिंग जेल लेकर इसे अपनी इंडेक्स फिंगर में लपेटें और उससे ही आईलैश को हल्के-हल्के साफ करने की कोशिश करें। अपनी लोअर आईलैश को से मस्कारा हटाने के लिए आपको कॉटन बड का इस्तेमाल करना चाहिए जिसमें क्लींजर हो। साथ ही साथ आपको कॉटन बड से आंखों के कॉर्नर को भी साफ करना चाहिए। 

लिपस्टिक को हटाने के लिए नम कॉटन पर थोड़ा सा क्लींजर लेकर होठों पर बाहर से अंदर की ओर ले जाते हुए सफाई करनी है। यानि होठों के कॉर्नर से लेकर सेंटर तक उस कॉटन को लेकर आना है। 

क्लींजिंग के दौरान क्या नहीं करना है?

क्लींजिंग के दौरान आप बहुत ठंडा या बहुत गर्म पानी न इस्तेमाल करें। आप क्लींजिंग के बाद बहुत सारे ठंडे पानी (बहुत ज्यादा ठंडे नहीं) से सफाई कर सकती हैं अगर आपकी स्किन ऑयली है तो ये अच्छा रहेगा। अगर आपकी ड्राई स्किन है तो साबुन का इस्तेमाल रात में बिलकुल न करें बल्कि किसी अच्छे क्लींजर का इस्तेमाल करें। आपके क्लींजर में एलोवेरा, नींबू जैसे नेचुरल इंग्रीडियंट्स होने चाहिए।  

क्लींजिंग के बाद स्किन को बहुत अच्छे से नॉरिश करें जिससे स्किन केयर पूरी हो सके। नाइट क्रीम से स्किन को नॉरिश करने से स्किन का ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है और साथ ही साथ ये बेहतर तरीके से टोन भी हो जाती है। नाइट क्रीम असल मायनों में नॉरिशिंग क्रीम ही होती है। इसमें एमोलिएंट्स होते हैं जो स्किन को जरूरी ऑयल प्रदान करते हैं। ड्राई स्किन के लिए नाइट क्रीम बहुत जरूरी होती है क्योंकि ड्राई स्किन पहले से ही कम ऑयली होती है। इसमें मॉइश्चराइजर्स और विटामिन ई हो सकता है।  

क्लींजिंग के बाद आपको नाइट क्रीम चेहरे पर लगानी चाहिए। आप क्रीम में कुछ बूंदें पानी की डालें और स्किन में लगाएं और सर्कुलर मोशन में मसाज करें। इसी के साथ, आउटवर्ड और थोड़े थोड़े अपवर्ड स्ट्रोक्स करें। 3-4 मिनट के लिए मसाज करें और एक्स्ट्रा क्रीम को हटाएं। सोने के पहले नम कॉटन से एक बार हल्के से पोंछ लें। ध्यान रखें कि जब आप मसाज करती हैं तो आरामदायक स्ट्रोक्स का इस्तेमाल करें जिससे स्किन न तो खिंचे और न ही उसमें स्ट्रेस पड़े। इससे स्किन पोर्स फ्री रहते हैं और रिपेयर वर्क आसानी से हो जाता है।  

आंखों के आस-पास की स्किन को हल्के हाथों से मसाज करें और सिर्फ रिंग फिंगर का ही इस्तेमाल करें। आपको सभी मूवमेंट्स एक ही डायरेक्शन में रखने हैं और मसाज क्रीम को गले में भी लगाना है और दोनों हाथों से मसाज करनी है। चिन से लेकर नीचे की ओर जाना है और प्रेशर भी एक समान देना है।  

पिंपल्स और एक्ने के साथ नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन- 

उन लोगों को जिन्हें पिंपल्स और एक्ने की समस्या होती है या फिर ऑयली स्किन है उन्हें नाइट क्रीम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। अगर आपकी स्किन ऑयली है या फिर उसमें एक्ने है तो आपके नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन में क्लींजिंग, टोनिंग और उन प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल होगा जो पिंपल्स और एक्ने को कंट्रोल करते हैं। ऑयली और कॉम्बिनेशन स्किन के लिए फेस वॉश की जरूरत होगी जिसमें तुलसी और नीम जैसे इंग्रीडियंट्स शामिल होते हैं। एक्ने, पिंपल्स और रैश वाली स्किन के लिए मेडिकेटेड क्लींजर का इस्तेमाल सही होगा। क्लींजिंग के बाद स्किन को गुलाब आधारिक स्किन टॉनिक से कॉटन के जरिए पोंछना सही होगा। एक्ने के लिए मेडिकेटेड एंटी-एक्ने लोशन सही होता है और इसे आपको रात भर ऐसे ही छोड़ना होगा।  

अगर एक्ने मार्क्स हैं तो एंटी-ब्लेमिश क्रीम का इस्तेमाल कर इसे रात भर छोड़ दें।  

अंडर आई क्रीम का इस्तेमाल है जरूरी- 

सभी तरह की स्किन के लिए अंडर आई क्रीम का इस्तेमाल सही होता है। इसे आंखें के नीचे लगाना चाहिए और 15 मिनट बाद नम कॉटन से पोंछ देना चाहिए। क्रीम को रात में लंबे समय तक छोड़कर न रखें।  

रेगुलर नाइट टाइम स्किन केयर से आपकी स्किन हेल्दी और प्रॉब्लम्स से दूर होती है। स्किन को हेल्दी और समस्याओं से दूर रखने के लिए नाइट टाइम स्किन केयर रूटीन का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे होने वाली दुल्हन की स्किन हेल्दी और रेडिएंट हो जाएगी।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.